top of page

❤हार्ट अटैक और हार्ट ब्लॉकेज:

हार्ट अटैक और हार्ट ब्लॉकेज:-


💚 जिन्हें भी हार्ट ब्लॉकेज की समस्या है,दिल कमजोर है, या हार्ट अटैक आने की संभावना है या अटैक आ चुका है वह विशेष ध्यान दे।


💚जिस भी व्यक्ति को हार्ट में स्टैंड डाला जा चुका है या बाईपास सर्जरी भी हो चुकी है उनको दोबारा हार्ट अटैक अवष्य आएगा, और पहले से जल्दी आएगा यदि शरीर मे ब्लॉकेज बनाने की प्रवत्ति चालू है


❌चाय पत्ती बन्द

❌शक्कर बन्द

❌कोल्ड्रंक बन्द

❌मैदा से बने उत्पाद बन्द

❌एल्युमिनियम के बर्तन बन्द

❌प्रेशर कुकर बन्द किसी भी धातु का हो

❌मांस, मछली, बन्द

❌मदिरा ,धूम्रपान ,तम्बाकू त्याग दे

❌दूध उत्पाद बन्द

❌सोयाबीन और उड़द की दाल बन्द

❌बाजार पेकिंग के सभी तेल बन्द चाहें वह किसी भी कम्पनी व ब्रांड के हो


✔शुद्ध गहरे रंग का काला गुड़ या धागे वाली मिश्री खाये

✔लकड़ी की घाणी के द्वारा निकाला गया तिल का तेल जरूर खाएं

✔प्रतिदिन 2 आवंले खाये

✔छिलकेदार सब्जियां खाये

✔छिलकेदार दालें खाये

✔मिक्स अनाज का आटा (गेंहू, ज्वार, जौ, मक्का, चना,आदि) मोटा पिसवाकर ही खाये, छलनी से न छाने

✔आटे में प्रतिदिन 30 ग्राम अलसी पीसकर मिलाए, उसकी रोटियां बनवाये

✔तेल शुद्ध खाए घाणी से निकला हुआ

✔नमक सेंधा या काला या ढ़ेले वाला खाये

✔पानी पीने के कम से कम शुरू के 7 नियम जरूर करे

✔️अधिक से अधिक पैदल चले


❤️हार्ट का सबसे बड़ा शत्रु दुश्मन है रिफाइंड तेल व डिब्बा बंद बोतलों के तेल चाहें वह सरसों का हो मूंगफली का,.. इनमे कैमिकल प्रोसेसिंग होने व तेज गति के घर्षण से पोस्टीक तत्वों को नष्ट करके तेल को विषेला बना देते हैं जो कि हार्ट अटैक का मुख्य कारण बनता है

मशिन से निकला हुआ तेल, गर्म हो कर पोस्टीक तत्व नष्ट हो जाते हैं और LDL लो डेंसिटी लेपोप्रोटीन बना देता है

इसलिए लकड़ी की घाणी के द्वारा तेल निकाला गया तेल ही सभी तरह से हदय के लिए ठीक होता है


उपचार:-

दिल की बीमारी से सम्बंधित सभी लोग, लौकी या मेथी या अर्जुन की छाल का काढ़ा पिये।



अनिवार्य:-

त्रिकुट चूर्ण -50ग्राम

बहेड़ा चूर्ण 25 ग्राम

प्रवाल पिष्टि 25 ग्राम

तीनो को मिलाकर 60 पुड़िया बनाले, एक पुड़िया रोज भोजन से पहले शहद मिलाकर खाये



उपाय 1:-

अर्जुन की छाल का पाउडर -10 ग्राम

पाषाणभेद पाउडर -10 ग्राम

इन दोनों को मिलाकर 500ml पानी मे डालकर खौलाये, 200ml रह जाने पर उतार लें, प्रतिदिन सुबह शाम खाली पेट 100-100ml पिये 3 महीने लगातार, यह गर्म है ठंडे दिनों में इस्तेमाल करें


उपाय 2:-

लौकी का 200 ग्राम रस, इंसमे 7-8 पत्ते, पुदीने के रस, 7-8 पत्ते श्यामा तुलसी के पत्तो का रस, और आधा चमच्च अदरक रस मिलाकर, काली मिर्च 4-5, 90-120 दिन लगातार खाली पेट दे, सभी तरह के ब्लॉकेज खत्म हो जायेगे

-लौकी ताजी हो एव मुलायम हो, इंजेक्शन न लगा हो, कड़वी न हो

-लौकी जांच करने का तरीका उसमे नाखून गढ़ाए यदि वह आसानी से लौकी में जा रहा है, एव लौकी दब नही रही तो वह सबसे अच्छी है, उसमें इंजेक्शन नही लगा है

-लौकी का रस निकालते समय लौकी को चखकर देखे, लौकी बिल्कुल कड़वी नही होनी चहिये

यह ठंडी तासीर की है गर्मियों में इस्तेमाल करे


उपाय 3:-

एक कांच का गिलास ले उसमें एक चमच्च मेथी दाना डालें, पानी गर्म करें, और गिलास भरकर शाम को रख दे, सुबह उठकर सबसे पहले शाम का रखा हुआ मेथी पानी पिये और मेथी चबाकर खाएं, इसे खाने के 50 मिनट तक कुछ न खाएं, 90 दिन लगातार करे फिर 15 दिन छोड़कर 90 दिन लगातार आवश्यकता के अनुसार, मेथी दाना गर्म है तो सर्दियो या बरसात में ही ले


दिन में 2 बार सुबह शाम पीपल के 6-7 पत्ते लेकर काढ़ा बनाकर पिये, इसे भी ऊपर के उपाय के साथ शामिल करें


अदरक एक टुकड़ा, 5 कली लहसुन,बांग्ला पान के 2 पत्ते, और गुड़ डालकर पेस्ट बनाकर सुबह खालीपेट उंगली से खायेँ, इसे भी ऊपर के उपाय के साथ शामिल करें


विशेष:-

-ACONITE-200 हमेशा अपने पास रखें, आपातकाल में काम आती है,

-तीनो उपाय के साथ (अनिवार्य) वाला भाग जरूर करे

-तीनो उपाय में से कोई एक ही उपाय करे

- मौसम के अनुसार उपाय को बदल सकते हैं!


☘️ एक कदम आयुर्वेद की ओर☘️


Doctor YSK



6 views0 comments

Comentários


bottom of page